gram pradaan kya hota hai / ग्राम प्रधान कैसे बने

27

gram pradaan kya hota hai / ग्राम प्रधान कैसे बने

gram pradaan kya hota hai दोस्तों आपके मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि ग्राम प्रधान का चुनाव कैसे होता है ग्राम प्रधान कैसे बनते हैं और ग्राम प्रधान क्या होता है और इनको कितनी सैलरी मिलती है और इनके पास कितने पावर होते हैं और ग्राम प्रधान का कार्यकाल कितने समय का होता है और क्या ग्राम प्रधान और सरपंच एक ही होते हैं या अलग-अलग होते हैं अगर आप इन सब के जवाब जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को शुरू से लेकर लास्ट तक जरूर पढ़ें क्योंकि हम आपको ग्राम प्रधान से संबंधित सारी जानकारी देंगे

ग्राम प्रधान या सरपंच कैसे बने

भारत की बात की जाए तो भारत में लगभग 70% जनसंख्या ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करती है और इसके लिए ही  साशन स्थापित करने के लिए संविधान में अनुच्छेद 243 में पंचायती राज का व्यवस्था की गई है और इसमें ग्राम सभा और ग्राम पंचायत का गठन भी किया गया था और ग्राम पंचायत या ग्राम प्रधान ही संपूर्ण पंचायत के विकास के लिए चुना जाता है और एक पंचायत का मुखिया होता है

ग्रामसभा क्या होती हैं

ग्राम सभा की बात की जाए तो ग्रामसभा किसी भी ग्राम पंचायत में आयोजित की जाती है और ग्राम सभा में उस पंचायत के सभी लोग अपनी समस्याओं का समाधान के लिए अर्जी लगाते हैं और इसमें सरपंच अध्यक्षता करता है और जिसके साथ कुछ मेंबर भी इसमें होते हैं और प्रत्येक पंचायत में ग्राम पंचायत जरूर होती है

 Gram pradhan yah Sarpanch

अगर ग्राम प्रधान या ग्राम सरपंच की बात की जाए तो ग्राम प्रधान और सरपंच एक ही होता है यह एक पंचायत का मुखिया होता है जो ग्राम सभा की अध्यक्षता करता है और अपने पंचायत में विकास के लिए सरकार को आवेदन देता है वह सरकार के द्वारा जो भी पैसे दिए जाते हैं वह ग्राम प्रधान के द्वारा ही अपनी पंचायत के विकास के लिए उपयोग किए जाते हैं

 ग्राम प्रधान की सैलरी

ग्राम प्रधान की सैलरी की बात की जाए तो इन्हें प्रतिमाह ₹3500  दिए जाते हैं और इनके अलावा भी इन्हें कुछ अलग से भी खर्च मिलता है

ग्राम पंचायत का चुनाव कैसे होता है

ग्राम पंचायत के चुनाव की बात की जाए तो ग्राम पंचायत का चुनाव प्रतिवर्ष 5 साल में होता है और इसे चुनाव आयोग के द्वारा ही आयोजन किया जाता है ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ने के लिए हर 5 साल में इसका चुनाव का आयोजन किया जाता है और चुनाव के आयोजन से 3 महीने पहले किसी भी पंचायत के लिए ग्राम प्रधान के पद के लिए सीट आती है

और वह सीट जाति के आधार पर आती है यानी कि एससी एसटी ओबीसी या जनरल कैटेगरी की आती है और जिस किसी कैटेगरी में आती है उसी तरह उम्मीदवार इस में भाग लेते हैं और इसमें एक निर्धारित समय दिया जाता है जिस समय में उम्मीदवार को अपना नामांकन प्रस्तुत करना होता है और नामांकन प्रस्तुत करने के कुछ समय बाद उन्हें चुनाव चिन्ह दिया जाता है

जिसके बाद वह अपने अपने लिए प्रचार करता है और प्रचार करने के कुछ समय बाद एक निश्चित दिन रखा जाता है जिस दिन वोटिंग होती है और जिस किसी व्यक्ति की उम्र 18 वर्ष से अधिक होती है और उसका नाम किसी भी पंचायत में होता है वह वोट डालने का अधिकार अपने पास रखता है

और फिर वोट डालने के बाद गिनती  की जाती है और जिस किसी उम्मीदवार को सबसे ज्यादा वोट मिलती हैं उसे विजय घोषित किया जाता है और उसे एक प्रमाण पत्र दिया जाता है फिर वह पंचायत का प्रधान या सरपंच बनता है और 5 साल तक पंचायत की बागडोर उसी के हाथ में रहती

ग्राम प्रधान के कार्य (Gram Pradhan Work)

  •  ग्राम पंचायत के कार्य की बात की जाए तो यहाँ पर भी एक हजार से ज्यादा की जनसंख्या होती है वहां पर एक ग्राम पंचायत का गठन किया जाता है और उसका अध्यक्ष प्रधान या सरपंच होता है और इसका कार्यकाल 5 साल का होता है
  • गांव के विकास के लिए पंचायत के प्रधान के द्वारा कई कार्य किए जाते हैं और यह कार्य ग्राम प्रधान के द्वारा किए जाते हैं या कराए जाते हैं
  • ग्राम प्रधान का एक प्रमुख काम होता है कि  युवा कल्याण संबंधी कार्यों को  करवाता है
  • अगर किसी पंचायत में पंचायत भवन नहीं है तो ग्राम प्रधान का प्रमुख काम होता है कि उस पंचायत में पंचायत भवन का निर्माण कराएं
  • अगर किसी व्यक्ति की उम्र 18 वर्ष से अधिक हो गई है तो ग्राम प्रधान का दायित्व होता है कि उस को जागरूक करें और उसको वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने के लिए उसके डॉक्यूमेंट लेकर बीएलओ के पास जमा करें
  •  अपने पंचायत की  जनता की सेवा करना और जनता की परेशानियों को सरकार के समक्ष रखना यह भी ग्राम प्रधान का प्रमुख कौन होता है
  • पंचायत में जितने भी कच्ची और पक्की सड़क है उनकी रखरखाव करना और उनकी समय-समय पर मरम्मत कराना यह भी ग्राम पंचायत ग्राम सचिव ग्राम प्रधान का प्रमुख कौन होता है
  •  पंचायत में जितने भी पेंशन धारी हैं उन्हें पेंशन मिल रही है नहीं मिल रही इस बारे में समय-समय पर अवगत कराना
  • ग्राम पंचायत की यह भी एक जिम्मेदारी होती है कि ग्राम प्रधान के द्वारा ग्रामीण के पशुओं को पीने की व्यवस्था करवाना और गांव में पानी की व्यवस्था करना भी ग्राम पंचायत या ग्राम प्रधान या सरपंच का प्रमुख कौन होता है
  • ग्राम प्रधान या सरपंच ग्राम सभा का अध्यक्ष होता है और इसके द्वारा कई निर्णय लिए जाते हैं और ग्रामीण क्षेत्रों में कई ऐसे मामले होते हैं जिन्हें ग्राम पंचायत द्वारा ही सुलझाए जाते हैं और ऐसे कई मामले हुए भी हैं जिन्हें ग्राम प्रधान ने सुलझाया है और ग्राम प्रधान का प्रमुख कार्य होता है कि वह अपने पंचायत की जनता के प्रति संवेदनशील व्यवहार करें और उनकी समस्या को सुने और ग्राम सभा में सही निर्णय लें जिससे कि ग्राम पंचायत का विकास काफी तेजी से हो सके

 ग्राम पंचायत की योजना

प्रत्येक पंचायत में कई सारी योजनाएं गवर्नमेंट के द्वारा दी जाती हैं और इन योजनाओं का पता करने के लिए आपको ग्राम सभा में जाना होता है ग्राम सभा में इन योजनाओं के बारे में चर्चा की जाती है और यह योजनाओं से मिलने वाले लाभ की जानकारी भी आप को दी जाती है अगर आप ग्राम पंचायत की योजनाओं का लाभ लेना चाहते हैं तो आप अपनी पंचायत के प्रधान या कहेंगे कि सरपंच से मिल सकते हैं इसके अलावा आप सचिव या रोजगार सहायक से भी इस मामले में बात कर सकते हैं क्योंकि उनके पास ही ग्राम पंचायत की योजनाओं के बारे में जानकारी होती है

gram pradaan kya hota hai / ग्राम प्रधान कैसे बने आर्टिकल कैसा लगा 

दोस्तों हमने हमारी इस आर्टिकल gram pradaan kya hota hai / ग्राम प्रधान कैसे बने में आपको बताया है कि ग्राम पंचायत क्या होती है ग्राम पंचायत का चुनाव कैसे होता है और ग्राम पंचायत के क्या क्या कार्य होते हैं और ग्राम प्रधान क्या होता है अगर आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल अच्छा लगता है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल कैसा लगा

Previous articleshahbaz nadeem biography in hindi / शाहबाज नदीम जीवन परिचय
Next articlepolice rank list and salary / भारतीय पुलिस ऑफिसर के प्रमुख पद
admin
हेलो दोस्तों मेरा नाम मनोज मीना है मैं बीए फाइनल ईयर का छात्र हूं मुझे बायोग्राफी लिखना काफी पसंद है क्योंकि हिंदी में ज्यादातर जानकारी किसी के बारे में भी उपलब्ध नहीं होती इसीलिए मैं ज्यादातर जानकारी इकट्ठी कर कर पॉपुलर पर्सन के बारे में बायोग्राफी लिखता हूं आप मुझे इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो भी कर सकते हैं